लॉकडाउन 4.0:क्रिकेट स्टेडियम को खोल देने की मिली इजाजत, तो क्या हो पाएगा IPL?

0

केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के कारण जारी लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने का ऐलान कर दिया है. गृह मंत्रालय की नयी गाइडलाइन्स के अनुसार अब स्टेडियम खुलें रहेंगे, किन्तु अभी भी दर्शकों को स्टेडियम जाने की अनुमती नहीं मिलेंगी.

लॉकडाउन 4.0 की नई गाइडलाइन्स के अनुसार अब स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स और स्टेडियम को खोलने की इजाजत दे दी गई है. हालांकि फिलहाल मिली जानकारी के अनुसार स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स और स्टेडियम को केवल प्रैक्टिस के लिए खोला गया है.

ध्यान देने वाली बात है कि IPL के 13वें सीजन को फिलहाल बीसीसीआई ने कोरोना वायरस महामारी के चलते अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है, लेकिन बीसीसीआई बोर्ड नया शेड्यूल तैयार करने पर विचार कर रहा है. अगर आईपीएल 2020 के रद्द हुआ तो 4,000 करोड़ रुपए का नुकसान होगा.

टी20 वर्ल्ड कप रद्द होने से खुलेंगे IPL के रास्ते

ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर कोविड-19 महामारी के कारण संशय की स्थिति बनी हुई है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) इस टूर्नामेंट को 2022 तक टालने पर विचार कर सकती है. आईसीसी के बोर्ड सदस्यों की 28 मई को इस बात पर विचार के लिए बैठक होने वाली है कि इन परिस्तिथियों में आईपीएल हो पाएगा या फिर नहीं. बोर्ड के एक सदस्य ने कहा कि आईसीसी टूर्नामेंट को टालने पर विचार कर सकती है. बोर्ड के इस सदस्य के मुताबिक क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) भी इस प्रस्ताव का समर्थन कर सकता है. ऐसे में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कराने के आसार बढ़ गए हैं.

आपको बता दें कि आईसीसी की इस प्रतियोगिता का आयोजन 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक प्रस्तावित है. आईसीसी बोर्ड की बैठक से पहले क्रिकेट समिति की बैठक भी है, जिसमें गेंद पर पसीना और लार लगाने जैसी कई परिस्थितियों पर विचार किया जाएगा. ऐसे में उम्मीद जतायी जा रही है है कि आईसीसी की प्रतियोगिता समिति कई विकल्प पेश करेगी. क्रिस टेटली बोर्ड की अध्यक्षता करेंगे.

बोर्ड के सदस्य ने कहा, ‘हम आईसीसी की प्रतियोगिता समिति से तीन विकल्पों की उम्मीद कर रहे हैं. पहला विकल्प 14 दिन के पृथकवास (आइसोलेशन) के साथ टी 20 विश्व कप का आयोजन हो, जिसमें दर्शकों की अनुमति है. इसमें दूसरा विकल्प है कि मैच खाली स्टेडियम में हों. तीसरा विकल्प है कि टूर्नामेंट को 2022 के लिए स्थगित कर दिया जाए.’ बोर्ड के इस सदस्य ने कहा, ‘आईसीसी को थोड़ी वित्तीय परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन यह एक अल्पकालिक समस्या है. अगर टूर्नामेंट 2022 में होता है, तो उसे कोई खास घाटा नहीं होगा.’ टी20 वर्ल्ड कप टलने का मतलब यह भी होगा कि चकाचौंध से भरे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आयोजन की संभावना बनेगी. अगर तब तक COVID-19 महामारी थम जाती है, तो यह टी-20 टूर्नामेंट कराया जा सकता है, फिलहाल इसे अनिश्चित काल के लिए निलंबित रखा गया है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और खबरें