गुजरात में पहनी लुंगी तो मिली ये सजा, क्या ये हैै गांधी का गुजरात ?

0
credit -dalit dastak

abscondment of Bihar people

एक कहावत है जो सभी ने सुनी होगी कि करे कोई भरे कोई। आजकल ये कहावत गुजरात में बिल्कुल सटीक बैठ रही है । खैर, पहले ये खबर सुनो फिर पूरा मामला समझाते हैं । गुजरात के वडोदरा में सात बिहारी लोगों पर लुंगी पहनने के लिए हमला कर दिया ।

पुलिस ने बताया कि हमला शहर के सामा क्षेत्र केे बाहर सोमवार रात हुआ । टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सभी सातों पीड़ित बिहार के मधुबनी जिले के रहने वाले हैं । जिनमें 6 लोग प्लंबर और बचा हुआ एक शख्स शत्रुघन यादव सिविल इंजीनियर है ।

इन लोगों पर हमला तब हुआ जब ये निर्माणाधीन बिल्डिंग के बाहर बैठे थे । आपको बदता दें कि य लोग वडोदरा के नगर निगन के एक प्राइमरी स्कूल के निर्माण स्थल पर काम करते हैं ।
सोमवार को जब यादव और अन्य लोग निर्माणाधीन बिल्डिंग के बाहर बैठे थे, तभी सामा के रहने वाले तीन लोग आए और उनके पहनावे के बारे में पूछने लगे ।
जिसके बाद स्थानिय लोगों और इन लोगों में झड़प शुरु हो गई । हालांकि जब तक पुलिस वहां पहुंचती, तीनों आरोपी भाग गए । और सातों बिहारी लोगों को जल्द से जल्द शहर खाली करने की धमकी भी दे गए ।

गौरतलब है आजकल गुजरात से उत्तर भारत के लोगों को मारने पीटने की घटनाएं लगातार सुनने में आ रहीं हैं । घटना के बारे में वडोदरा के पुलिस आयुक्त अनुपम सिंह गहलोत ने कहा कि स्थानीय निवासियों की बात पर ध्यान नहीं दिए जाने के बाद इन लोगों पर हमला किया गया ।

स्थानीय निवासी इन लोगों से लुंगी पहनकर वहां अश्लील तरीके से नहीं बैठने के लिए लगातार कह रहे थे ।
उन्होंने बताया कि यह घटना हिन्दी भाषी प्रवासियों के खिलाफ घृणा अपराध की नहीं है । सिंह ने कहा कि सोमवार की रात को दो समूहों के बीच विवाद होने के बाद इन लोगों पर हमला किया गया ।

पुलिस के अनुसार हमलावरों ने इंजीनियर की एक मोटरसाइकिल को भी जला दिया.
पुलिस ने बताया कि आरोपियों की पहचान धीरू परमार, हार्दिक परमार और निकुंज वाघेला के रूप में हुई है। इन तीनों आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 323, 504, 506, 435 और 114 के तहत मामला दर्ज किया गया है ।

बता दें कि बीते 28 सितंबर को साबरकांठा जिले में 14 महीने की एक बच्ची के साथ बलात्कार के आरोप में बिहार के एक श्रमिक की गिरफ्तारी के बाद गुजरात के कई जिलों और उत्तरी हिस्सों में यूपी-बिहार वालों के खिलाफ हिंसा की घटनाएं हुईं थी ।
कई हिन्दी भाषी प्रवासियों पर हमले किये गये जिनमें से अधिकतर बिहार और उत्तर प्रदेश के थे । इस वजह से बड़ी संख्या में प्रवासियों को गुजरात से पलायन करना पड़ा ।
ख़बर एक नज़र में
• सोमवार को बिहार के 7 लोगों पर लुंगी पनने पर हुआ हमला
• पीड़ितों में मधुबनी जिले के 6 प्लंबर और 1 सिविल इंजीनियर है
• हमला गुजरात के वडोदरा में हुआ
• हमले के वक्त पीड़ित लोग निर्माणाधीन विल्डिंग में काम कर रहे थे

ख़बर सोर्स- द वायर

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और खबरें