वीडियो: आखिर क्यों सोनू सूद ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए प्रवासी श्रमिकों से मांगी माफ़ी?

1

सोनू सूद प्रवासी श्रमिकों की मदद निरंतर रूप से कर रहे है. उनकी कोशिश ये है कि जो भी लोग उनके संपर्क में आएं उनकी हर संभव सहायता वो कर सकें. इसके लिए सोनू सूद खुद सोशल मीडिया के जरिये प्रवासी श्रमिकों के संपर्क में बने हुए हैं, इसके साथ ही उन्होंने एक टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है, जिस पर कॉल करके कोई मदद की गुहार लगा सकता है. सोनू सूद के लिए इस वक़्त सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि उनके पास बहुत तेज रफ्तार से लोगों के मैसेज आ रहें है और न चाहते हुए भी एक दो मैसेज छूट जा रहे है. इसी सिलसिले में सोनू सूद (Sonu Sood) ने एक वीडियो अपने ट्विटर एकाउंट पर सांझा किया है. जिसमें साफ नजर आ रहा है कि उन्हें लगातार प्रवासी श्रमिकों के मैसेज आ रहे हैं. ऐसे में कुछ मैसेज मिस भी हो सकते हैं. सोनू सूद ने ट्वीट कर लिखा, ‘आपके संदेश हमें इस रफ्तार से मिल रहें हैं. मैं और मेरी टीम पूरी कोशिश कर रही हैं कि हर किसी को मदद पहुंचे! लेकिन अगर इस में हम कुछ मैसेज को मिस कर दें, उसके लिए मुझे क्षमा कीजिएगा.’

https://twitter.com/SonuSood/status/1265494648857989121?s=19

एक निजी न्यूज़ चैनल से बातचीत में सोनू सूद ने कहा था, ‘प्रवासी श्रमिकों को सड़कों पर अपने बच्चों के साथ देखकर हर कोई परेशान था. मैंने सोचा कि यह सिर्फ बैठकर इनकी हालत पर दुख जताने का समय नहीं है, इनकी मदद करने का तरीका निकालने का समय है. मैंने इन्हें वापस अपने परिजनों तक पहुंचाने का फैसला लिया. भगवान ने इस काम में मदद भी की. यह सिर्फ 350 लोगों की बात नही है बल्कि उन लाखों लोगों की बात है जो देश भर में विभिन्न जगहों पर फंसे हुए हैं. जब वे प्रवासी श्रमिक सही से फॉर्म तक नहीं भर सकते हैं, ऐसे में हम यह उम्मीद नहीं कर सकते हैं कि उन्हें तुरंत परमिशन भी मिल जाएगी. नहीं तो उन्हें पैदल चलना पड़ेगा.’

आपको बता दें कि हाल ही में सोनू सूद ने टोल फ्री नंबर के साथ वाट्सएप नंबर भी जारी किया। इस बात की जानकारी सोनू सूद ने खुद ट्विटर पर दी थी। ट्वीट करके सोनू सूद ने लिखा था, ‘मेरे प्यारे श्रमिक भाइयों और बहनों। अगर आप मुंबई में हैं और अपने घर जाना चाहते हैं तो कृपया इस नंबर पर कॉल करें 18001213711 और बताएं आप कितने लोग हैं, कहां हैं अभी, और कहां जाना चाहते हैं। मैं और मेरी टीम जो भी मदद कर पाएंगे हम जरूर करेंगे।’ इसके अलावा एक दूसरे ट्वीट में वाट्सएप नंबर की जानकारी देते हुए सोनू सूद ने कैप्शन में लिखा, ‘चलो घर छोड़ आऊं।’

गौरतलब है कि कुछ वक्त पहले ही न्यूज एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए सोनू सूदू ने बताया था, ‘मुझे रोजाना काफी फोन आ रहे थे… रोज हजारों कॉल आ रहे थे। मेरा परिवार और मित्र लोगों की सूचनाएं एकत्र करने में जुटे हुए थे, तभी हमें अहसास हुआ कि हमसे तमाम ऐसे लोग छूट जाएंगे, जो हमसे संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए हमने यह कॉल सेंटर बनाने का फैसला लिया, यह टोल फ्री नंबर है।’

About Post Author

1 thought on “वीडियो: आखिर क्यों सोनू सूद ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए प्रवासी श्रमिकों से मांगी माफ़ी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और खबरें