केरल सीएम: गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत में तीन संदिग्‍धों पर टिकी है हमारी नजर

0

केरल– गर्भवती मादा हथिनी की दिल दहला देने वाली मौत का मामला दिन प्रतिदिन तूल पकड़ता जा रहा है.

केरल के सीएम विजयन ने एक ट्वीट करते हुए लिखा, ‘तीन संदिग्धों पर ध्यान केंद्रित करते हुए एक जांच जारी है.

पुलिस और वन विभाग संयुक्त रूप से घटना की जांच करेंगे. जिला पुलिस प्रमुख और जिला वन अधिकारी ने आज घटनास्थल का दौरा किया.

हम दोषियों को न्याय दिलाने के लिए हरसंभव कोशिश करेंगे.’ इसके अलावा ‘एक अन्‍य ट्वीट में सीएम विजयन ने लिखा, ‘पलक्कड़ जिले में एक दुखद घटना में एक गर्भवती मादा हथिनी की जान चली गई. हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं कि आपकी चिंताएं व्यर्थ नहीं जाएंगी, न्याय की जीत होगी.’

वन विभाग ने इस घटना को लेकर की जा रहीं जांच के बारे में बताते हुए और साथ ही साथ दोषियों को सज़ा दिलाने के बारे में लिखते हुए एक ट्वीट किया.

वन विभाग ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘हथिनी के शिकार के लिए दर्ज मामले में कई संदिग्धों से पूछताछ की गई है. इस संबंध में गठित एसआईटी को अहम सुराग मिले हैं. वन विभाग दोषियों को अधिकतम सजा दिलवाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगा.

आपको बता दें कि केरल की साइलेंट वैली में एक मादा हाथी के पटाखों से भरे अनन्नास खाने से मौत की घटना ने लोगों और वन्‍य जीव प्रेमियों के दिल को दहला कर रख दिया है. विस्‍फोटक इस हथिनी के मुंह में फट गए थे और 27 मई को इसकी मौत हो गई थी.

केरल सरकार ने कहा है कि पलक्कड जिले में पिछले माह एक गर्भवती हथिनी की निर्मम हत्या मामले की जांच वन्यजीव अपराध जांच दल करेगा. दूसरी ओर, केन्द्र सरकार ने इस मामले पर गंभीर रुख अपनाते हुए राज्य से रिपोर्ट भी मांगी है.

केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घटना पर गंभीर रुख अपनाते हुए कहा,‘‘हमने घटना पर पूरी रिपोर्ट मांगी है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.”

उद्योगपति रतन टाटा ने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए गर्भवती हथनी की निर्मम हत्या को ‘‘सोची समझी हत्या” करार दिया और इस वन्‍य जीव के लिए न्याय की मांग की.

रतन टाटा ने ट्वीट कर लिखा,‘‘मैं यह जान कर सदमे में हूं और दुखी हूं कि कुछ लोगों ने निर्दोष, गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया जिससे उसकी मौत हो गई.” आगे उन्होंने कहा,‘‘निर्दोष पशुओं के खिलाफ ऐसे आपराधिक कृत्य किसी मनुष्य की सोची समझी हत्या के काम से किसी भी तरह अलग नहीं है.”

इस झकझोर देने वाली घटना के बाद बॉलीवुड कलाकार अनुष्का शर्मा, श्रद्धा कपूर, रणदीप हुड्डा सहित कई और कलाकारों ने पशुओं के खिलाफ इस प्रकार की क्रूरता के खिलाफ कठोर कदम उठाने की मांग की है.

सोशल मीडिया पर सांझा की गई तस्वीरों में इस हथिनी को नदी में मुंह और सूंड को दबाकर खड़ा देखा गया था, शायद असहनीय दर्द से राहत पाने के लिए उसने ऐसा किया था. बाद में इसी स्थिति में उसकी मौत हो गई थी. वन अधिकारी आशिक अली ने एक निजी चैनल से बात करते हुए बताया, “हमें नहीं पता कि घटना कब हुई. लेकिन हमें संदेह है कि यह लगभग 20 दिन पहले हुआ होगा. “

गर्भवती हथिनी की निर्मम हत्या की घटना की बात तब सामने आई थी जब वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने अपने फेसबुक पेज पर एक इमोशनल पोस्ट किया था.

कृष्णन ने अपने पोस्‍ट में लिखा “जब हमने देखा कि वह नदी में खड़ी है और उसका सिर पानी में डूबा हुआ था. उसे इस बात का अहसास हो गया था कि वह मरने वाली थी. ऐसे में उसने खड़े रहते हुए जलसमाधि ले ली.”

इस हथिनी ने साइलेंट वैली के जंगलों को छोड़ दिया था और भोजन की तलाश में पास के गाँव में भटक गई थी. देश में बने पटाखों के साथ अनन्नास का उपयोग आमतौर पर स्थानीय लोगों द्वारा जंगली सूअरों के खिलाफ अपने खेतों की रक्षा के लिए किया जाता हैं. वन अधिकारियों के अनुसार, संदेह है कि हथिनी ने इन्‍हीं अनन्नास में से एक अनन्नास खाया था.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और खबरें