सलमान और अर्जुन कपूर के बाद अब इस अभिनेता ने जरूरतमंदों की तरफ बढ़ाया मदद का हाथ

0

कोरोना वायरस और लॉकडाउन से परेशान हो रहे लोगों की मदद के लिए बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां सामने आई है अब इन मददगार की लिस्ट में एक और नाम शामिल हो गया है। हम बात कर रहे उरी ‘दी सर्जिकल स्ट्राइक’ में अपनी ऐक्टिंग का लोहा चुके विक्की कौशल की। अर्जुन कपूर के बाद अभिनेता विक्की कौशल ने भी वर्चुअल माध्यम के जरिए फंड जुटाने का फैसला कर लिया है।


बुधवार को विक्की कौशल ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपना एक वीडियो अपने प्रशंसकों के साथ शेयर किया है। इस वीडियो के माध्यम से उन्होंने फैंस को अपने साथ ऑनलाइन गेम खेलने के लिए न्योता दिया है। इसके जरिए उन्होंने दिहाड़ी मजदूरों और गरीब लोगों की मदद के लिए फंड जुटाने का फैसला किया है। बता दें कि विक्की कौशल यह फंड अभिनेता अर्जुन कपूर की बहन अंशुला के समाज सेवी संस्था फैनकाइंड और गिव इंडिया के लिए जुटा रहे हैं।


अपने इंस्टाग्राम पर फैंस के लिए वीडियो सांझा करते हुए विक्की कौशल ने कहा, ‘मैं आप सभी के साथ रात में वर्चुअल गेम खेलने को तैयार हूं। इसके लिए आप सभी को fankind.org/vicky पर लॉग इन करना होगा और दिहाड़ी मजदूरों- गरीबों की मदद के लिए आर्थिक सहायता देनी होगी। आपकी इस मदद से गिव इंडिया इन लोगों को जरूरत का सामान और राशन मुहैया करवा सकेगा’। अभिनेता ने आगे कहा, ‘आर्थिक मदद करने वाले तीन सौभाग्यशाली विजेताओ के साथ मैं वर्चुअल गेम खेलूंगा। आपका छोटा सा सहयोग किसी की जिंदगी बदल सकता है।’ सोशल मीडिया पर आते ही ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स और उनके विक्की कौशल के फैंस इस वीडियो को बेहद पसंद कर रहे हैं और लगातार उसपर कमेंट करके अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

गौरतलब है कि विक्की कौशल से पहले अर्जुन कपूर ने वर्चुअल डेटिंग के जरिए रुपये जुटाए थे और 300 मजदूरों के परिवार वालों को जरूरत का सामान उपलब्ध भी करवाया था। कुछ दिनों पहले अर्जुन कपूर ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो साझा कर दिहाड़ी मजदूरों और गरीबों की परेशानी को लोगों को बताया था। अर्जुन कपूर ने इस वीडियो में कहा था कि, ‘हमारे देश में लोगों का एक तबका ऐसा है जिनकी इस संकट में आजीविका ही चली गई है। इस स्थिति में उन्हें अपना और परिवार का पेट भरने के लिए मदद की सख्त जरूरत है। मैं खास तौर पर उन दिहाड़ी मजदूरों की बात कर रहा हूं जो सड़कों पर चाट की दुकान लगाते हैं, निर्माण कार्य का हिस्सा होते हैं इसके साथ ही कुली, धोबी, रिक्शा चलाने वाले और इस तरह के ढेरों लोग हैं। लॉकडाउन के चलते वे घरों से बाहर नहीं निकल सकते हैं जिससे उनकी कमाई पूरी तरह से ठप्प हो चुकी है। कुछ समाज सेवी संस्थाओं (गिवइंडिया, फैनकाइंड) के साथ मिलकर मैं ऐसे जरूरतमंद मजदूरों को कुछ धनराशि उपलब्ध कराकर मदद करूंगा। ऐसे 60 हजार लोगों की पहचान की गई है जिन्हें मदद की जरूरत है। हम सभी मिलकर ऑनलाइन माध्यम से भी इनकी मदद कर सकते हैं।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और खबरें