ट्रक से टकराई एम्बुलेंस,भाई का शव ले जाते समय हुई दूसरे भाई की मौत

0

भाई का शव एम्बुलेंस से ले जाते समय बिहार के वैशाली निवासी एक कपड़ा व्यापारी रंजन कुमार जायसवाल (45) हादसे के शिकार हो गए। सोमवार देर रात लखनऊ के विभूतिखंड थानाक्षेत्र के शहीद पथ परउनकी एंबुलेंस ने ओवरटेक करने की कोशिश की जिससे एम्बुलेंस अंधेरे में खड़े ट्रक से टकरा गई। हादसे में बेटा आशीष व भाई की पत्नी रिंकू घायल हो गए और खुद रंजन कुमार जायसवाल की मौके पर ही मौत हो गयी।


हादसे के समय रंजन भाई का शव दिल्ली से बिहार स्थित गांव लेकर जा रहे थे। दुर्घटना में घायल हुए बेटे आशीष और भाई की पत्नी रिंकू को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। वहीं, राहगीरों ने हादसे के बाद भाग रहे एंबुलेंस के चालक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने पूछताछ के बाद चालक को छोड़ दिया।


प्रभारी निरीक्षक विभूतिखंड राजीव द्विवेदी के बताया कि रंजन कुमार के छोटे भाई रंजीत कुमार काफी बीमार थे। उनका इलाज दिल्ली के एम्स में चल रहा था। सोमवार तड़के ही उनकी मौत हो गई। उनका शव लेकर रंजन परिवारीजनों के साथ एंबुलेंस से वैशाली जा रहे थे।

रंजन के बेटे आशीष के मुताबिक सोमवार देर रात शहीद पथ पुल के नीचे एंबुलेंस चालक ने अंधेरे में खड़े ट्रक को ओवरटेक करने की कोशिश की। इसमें एंबुलेंस का बायां हिस्सा ट्रक में टकरा गया। हादसे में एंबुलेंस में बैठे लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों ने इन्हें बाहर निकालकर पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। पुलिस ने घायलों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने रंजन कुमार को मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद रंजन का शव परिवारीजनों को सौंप दिया गया। जिसके बाद दोपहर को दोनों भाइयों का शव लेकर आशीष व रिंकू वैशाली रवाना हो गए।

दोनों भाइयों के शव एक साथ घर पहुंचे। रंजन के परिवार में पत्नी जयरानी व दूसरा बेटा ऋतिक है।आशीष की तहरीर पर पुलिस ने ट्रक चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और खबरें