जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने पेश की इंसानियत की मिसाल

चित्रकूट : स्वार्थ से भरी इस दुनिया में दरियादिली की एक मिसाल पेश करने वाले जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की एक कहानी आपकों बताते हैं । अपने सरहानीय कार्य की वजह से हमेशा सुर्खियों में रहने वाले आईएएस शेषमणि पाण्डेय का दिल भी बहुत बड़ा है ।

एक बार चित्रकूट के जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय कलेक्ट्रेट की मीटिंग खत्म करके अपनी आवास की ओर निकल रहे थे । तभी उन्हें रास्ते में बैठा हुआ एक वृद्ध दिव्यांग दिखाई दिया । फौरन उन्होंने अपनी गाड़ी रुकवाई और गाड़ी से उतरकर उस बुजुर्ग की ओर जाने लगे ।

जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने उस बुजुर्ग दिव्यांग से बात की और उसकी परेशानी सुनी। बुजुर्ग दिव्यांग तिरहार क्षेत्र के बरद्वारा गांव का रहने वाला है । बेटों से तिरस्कृत बुजुर्ग दिव्यांग को जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने सहारा देते हुए डीआईओएस बलिराज राम के साथ इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया और साथ ही साथ राजापुर एसडीएम अश्वनी पाण्डेय को दिव्यांग के जीवन यापन के समुचित इंतजाम किये जाने के निर्देश दिए।

ये छोटी सी घटना जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय के जीवन के बारे में बहुत कुछ बयां करती है । कुशल प्रशासक के साथ-साथ नेक दिल इंसान भी है शेषमणि पाण्डेय ।

1 thought on “जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने पेश की इंसानियत की मिसाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 12 =

You may have missed