कोवैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल हुआ पूरा, इतने प्रतिशत तक असरदार निकली कोरोना की ये दवा

कोरोना वायरस की तीसरी लहर के अंदेशे के बीच एक अच्छी खबर मिली है. दरअसल भारत के स्वदेशी कोरोना टीके कोवैक्सीन के तीसरे चरण को ट्रायल पूरा हो गया है. तीसरे चरण के ट्रायल के परिणाम में पाया गया है कि यह वैक्सीन 77.8 फीसदी असरदार है.
आपको बता दें कि भारत बायोटेक की ओर से केंद्र सरकार की कमिटी को यह रिपोर्ट सौंपी गई है. सुबह जानकारी मिली थी कि कोवैक्सीन को बनाने वाली भारत बायोटेक ने इससे जुड़े तीसरे चरण से क्लिनिकल ट्रायल के डेटा को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से साझा किए हैं.
तीसरे चरण का डेटा मिलने के बाद सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमिटी (SEC) ने आज मंगलवार को मीटिंग बुलाई थी. इसमें कोवैक्सीन की तरफ से यह जानकारी दी गयी है. 
SEC ने भारत बायोटेक की ओर से दिया गया डेटा देख लिया है. लेकिन फिलहाल किसी तरह स्वीकृति या अस्वीकृति नहीं दी गई है. आगे के प्रोसेस में SEC अपने डेटा DCGI को सौंपेगा. 
मालूम हो कि कोवैक्सीन के इन ट्रायल के नतीजे आए बिना ही तकरीबन 5 महीने पहले आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने पर तब काफी बवाल भी हुआ था.
देश में कोरोना वायरस को मात देने के लिए फिलहाल दो दवाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है. इसमें पहला एस्ट्राजेनेका का कोरोना टीका है. जिसे सीरम इंस्टीट्यूट कोविशील्ड के नाम से बना रहा है. दूसरा है भारत बायोटेक की कोवैक्सीन.


यह पहली पूर्ण रूप से भारतीय वैक्सीन है. कोरोना जिस समय अपने चरम पर था और टीकाकरण अभियान को जल्द शुरू करना था, तब कोविशील्ड और कोवैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी पर प्रदान की गयी थी. तब तीसरे चरण के ट्रायल के नतीजों के बिना कोवैक्सीन को मंजूरी मिलने पर कई तरह के प्रश्न उठाये गए थे. हालांकि, टीकाकरण शुरू होने के बाद अब तक कोवैक्सीन के कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं मिले हैं.
भारत बायोटेक ने यह भी कहा है कि वह चौथे चरण का ट्रायल भी कर रही है. फिलहाल कोवैक्सीन को WHO द्वारा जारी आपातकालीन इस्तेमाल की वैक्सीन लिस्ट में जगह नहीं मिली है. इसको लेकर कोशिश की जा रही हैं. बताते चलें कि भारत बायोटेक ने बीते महीने कहा था कि उनको उम्मीद है कि कोवैक्सीन को जुलाई से सितंबर के बीच WHO की आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिलने वाली लिस्ट में जगह मिल सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × two =

You may have missed