राहत: अब कोरोना संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती होने के लिए नहीं पड़ेगी Covid-19 Positive रिपोर्ट की जरूरत, पढ़िए पूरी खबर

कोरोना के कारण जिस तरह से देश में हालात बने हुए है वो हम सभी जानते हैं. अब इस बीच केंद्र की तरफ से एक राहत देने वाली खबर मिली है. दरअसल केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के चीफ सेक्रेटरी को ये निर्देश दिया है कि अब से किसी भी कोरोना संक्रमित को अस्पताल में भर्ती होने के लिए कोविड पॉजिटीव रिपोर्ट की जरूरत नहीं होगी.
आपको बता दें कि कोविड-19 की नैशनल पॉलिसी में ये बदलाव कोरोना के कारण पैदा हुई स्थिति को देखते हुए किया गया है. केंद्र ने ये आदेश दिया है कि 3 दिनों के भीतर इस नई नीति को अमल में लाएं.
इस नीति के तहत ऐसे संदिग्ध मरीजों को सस्पेक्टेड वार्ड में दाखिला मिल सकेगा. इसमें कोविड केयर सेंटर, पूर्ण समर्पित कोविड केयर सेंटर और कोविड अस्पताल शामिल हैं.


इसके साथ ही साथ इस नई पॉलिसी में यह भी स्पष्ट किया गया है कि मरीजों को इस आधार पर इनकार नहीं किया जा सकता कि वह किस राज्य से हैं. किसी भी मरीज को कहीं भी दाखिला मुमकिन होगा.
केंद्र के आदेश के मुताबिक, अब कोविड मरीज को अस्पताल में दाखिला लेने के लिए उसे पॉजिटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी नहीं होगा, लक्षणों वाले संदिग्ध मरीजों को भी अस्पताल में रखा जा सकेगा.
गौरतलब है कि इस बदलाव से उन कोरोना संक्रमितों और उनके परिजनों को काफी राहत मिलेगी, जो इलाज के लिए एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल भटक रहे हैं.
बताते चलें कि कुछ मामले ऐसे भी सामने आये हैं जब अस्पताल में कोविड रिपोर्ट निगेटिव दिखाने के बाद मरीज को एडमिट करने से अस्पताल वाले मना कर देते हैं. वहीं, कुछ मरीजों को इस लिए अस्पताल में एडमिट नहीं किया जाता है क्योंकि उनमें कोविड के लक्षण दिखाई दे रहे हैं.
ध्यान रहे कि फिलहाल तक कोविड वार्ड में उन्हें ही दाखिला मिलता था जिनके पास RT PCR पॉजिटिव रिपोर्ट होती थी. बीते कुछ दिनों से संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी देखने के बाद कई राज्यों में आरटीपीसीआर रिपोर्ट मिलने में अधिक समय लगने लगा है, ऐसे में मरीज को सही समय पर इलाज नहीं मिल पा रहा था. लेकिन अब उम्मीद की जा रही है कि इस बड़े बदलाव के बाद मरीजों को सही समय पर इलाज मिल सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − seven =