जोधपुर के घर में आग लगने से हुई एक परिवार के 4 सदस्यों की मौत, पुलिस को मिले कंकाल

सार

जोधपुर के सनसिटी में देर रात एक घर में आग लगने की वजह से एक ही परिवार के चार सदस्य जिंदा जल गए। पुलिस जब वहां पहुंची तो मौके पर सभी सदस्यों के कंकाल मिले। मरने वालों में बुजुर्ग दंपति और उनकी दो बेटियां थी।

विस्तार

राजस्थान के जोधपुर में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां की जोधपुर के सनसिटी मिल्कमैन कॉलोनी क्षेत्र में बने घर में रात 18 जुलाई को आग लग गई। बताया जा रहा है कि हादसे में परिवार के चारों सदस्यों के जिंदा जलने से उनकी दर्दनाक मौत हो गई। पुलिस को सदस्यों के सिर्फ कंकाल मिले। मरने वालों में बुजुर्ग दंपति और उनकी दो बेटियां थी, आग लगने की वजह से मौत हो गई।

दमकल कर्मियों को मिले चार लोगों के कंकाल

बताया जा रहा है कि घटना की सूचना मिलने पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम तुरंत मौके पर पहुंची लेकिन दमकल कर्मियों के बचाव राहत कार्य से पहले ही परिवार वाले आग की चपेट में पूरी तरीके से आ चुके थे । दरवाजा तोड़कर वे अंदर घुसे तो उन्हें सिर्फ चार लोगों के कंकाल मिले। हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन के आला अधिकारी और जनप्रतिनिधि भी वहां मौके पर पहुंच गए । बताया जा रहा है कि घर में आग लगने का कारण अभी तक पता नहीं चल पा रहा है, पुलिस फिलहाल मामले की जांच में जुटी है।   

स्थानीय लोगों ने पुलिस को आग लगने की सूचना दी थी

बताया जा रहा है कि, मृतकों में से परिवार के मुखिया 75 वर्षीय सुभाष चौधरी कादरी के रिटायर्ड ऑफिसर थे। रविवार की देर रात चौधरी के घर में आग लगने के कारण 70 साल की उनकी पत्नी नीलम चौधरी, 50 साल की बेटी पल्लवी चौधरी और 45 साल की बेटी लावण्या चौधरी जीवित ही जल गई। स्थानीय लोगों का यह कहना है कि उन्होंने रात के समय अचानक से मकान से धुआं उठते देखा उसके बाद उन्होंने पुलिस स्टेशन और दमकल विभाग को सूचना दी। मौके पर पहुंचे दमकल विभाग ने आग पर काबू तो पा लिया पर जब घर अंदर से बंद मिला तो दमकल कर्मी दरवाजा तोड़कर अंदर पहुंचे, जहां उन्हें सुभाष और उनकी पत्नी एवं दो बेटियां एक कमरे में जले हुए कंकाल की स्थिति में मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 3 =

You may have missed