क्रिकेट : गुजरात टाइटन्स के युवा नेट बॉलर हिमांशु चौहान की कहानी

नई दिल्ली: आईपीएल युवा खिलाड़ियों के लिए शानदार प्लेट फॉर्म है। पिछले कुछ सालों में भारतीय क्रिकेट को आईपीएल ने शानदार खिलाड़ी दिए हैं। आईपीएल खेलने वाली सभी टीमें, घरेलू क्रिकेट पर ध्यान देती हैं। टीमें अपने साथ सहयोगी खिलाड़ियों को भी जोड़तीं है। किसी भी युवा खिलाड़ी के लिए इंटरनेशनल खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करना बड़ी बात होती है। उनके साथ खेलने का अनुभव, उनके खेल में फर्क पैदा कर सकता है। आईपीएल-15 में हार्दिक पांड्या की गुजरात टाइटन्स ने नेट बॉलर के रूप में दिल्ली अंडर-19 टीम के सदस्य रहे हिमांशु चौहान को जोड़ा है।

डीएवी जसोला विहार में पढ़ने वाले हिमांशु के क्रिकेट की शुरुआत यही से हुई। उन पर कोच रवि गोस्वामी की नजर पड़ी और फिर उनके क्रिकेटर बनने का सफर शुरू हो गया। तेज गेंदबाज हिमांशु ने स्कूल टूर्नामेंट में सभी को प्रभावित किया और नेशनल प्रतियोगिताओं में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने दिल्ली अंडर-19 टीम के लिए भी ट्रायल दिया और सबसे अधिक विकेट लिए। इसके बाद उन्हें अंडर-19 टीम के लिए चुना गया। हिमांशु के चयन के बाद घर पर खुशी का माहौल है। सभी को उम्मीद है कि हिमांशु आईपीएल के अनुभव का इस्तेमाल घरेलू क्रिकेट में करेंगे और अपनी पहचान भारतीय क्रिकेट में स्थापित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − one =