Covid-19: जानिए कौन से देश में 14 दिन के बाद दिखने लगा कोरोना वैक्सीन का असर, 50 प्रतिशत कम हुआ संक्रमण का खतरा

कोरोना महामारी को खत्म करने के लिए कई देशों में टीकाकरण शुरू हो गया है. जिन देशों में कोरोना टीकाकरण शुरू हो चुका है उनमें ब्रिटेन, अमेरिका और इस्रायल जैसे देश शामिल हैं. भले ही कोरोना टीकाकरण अभियान सबसे पहले ब्रिटेन में शुरू हुआ था, लेकिन इस्राइल में अब तक सबसे ज्यादा लोगों को लगाया जा चुका है.

इस्राइल के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, यहां अब तक तकरीबन 20 लाख के लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है. कोविड-19 के प्रकोप को खत्म करने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तैयार की गई एक योजना के मुताबिक, मार्च के अंत तक इस्राइल को टीकाकरण अभियान के तहत 50 लाख से अधिक नागरिकों को टीका लगाना होगा.

आपको बता दें कि इस्रायल में अभी से ही कोरोना टीकाकरण का प्रभाव दिखना शुरू हो गया है. इस्राइल के स्वास्थ्य मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी की माने तो इस्रायल में टीकाकरण अभियान के शुरुआती आंकड़ों से ये मालूम हो रहा है कि फाइजर वैक्सीन की दो में से एक खुराक देने के 14 दिनों के बाद संक्रमण का खतरा 50 फीसदी तक कम हो जाता है. लेकिन इस बारे में अलग-अलग स्वास्थ्य संगठनों ने अलग-अलग आंकड़े प्रस्तुत किए हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो इस्रायल के सबसे बड़े स्वास्थ्य प्रदाता क्लैट द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, वैक्सीन लगने के 14 दिन बाद किसी व्यक्ति के कोरोना वायरस की चपेट में आने का खतरा 33 प्रतिशत तक घट जाता है. वहीं, स्वास्थ्य प्रदाता मैकाबी द्वारा दर्ज किए गए और चैनल 12 द्वारा प्रसारित अलग-अलग आंकड़ों से पता चल रहा है कि वैक्सीन की पहली खुराक लेने के 14 दिनों बाद संक्रमण की संभावना में 60 प्रतिशत तक कमी पायी गयी है.

मालूम हो कि इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू फाइजर वैक्सीन की दूसरी खुराक भी ले चुके हैं. इसके साथ ही वह वैक्सीन की दोनों खुराक लेने वाले इस्राइल के पहले व्यक्ति हैं. वहीं, देश के प्रधानमंत्री के अलावा इस्रायल के स्वास्थ्य मंत्री युली एडेलस्टीन को भी वैक्सीन की दूसरी खुराक लगायी जा चुकी है. बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि मार्च तक देश के सभी नागरिकों को कोरोना का टीका लगा दिया जाएगा.

रिपोर्ट्स के अनुसार, इस्रायल में अब तक तकरीबन पांच लाख 20 हजार लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जिसमें से चार लाख से अधिक लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं. वहीं, तकरीबन 3,800 लोगों ने कोरोना वायरस के चलते अपनी जान गवां दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − two =

You may have missed