ब्रिटेन: कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के मामलों में बढ़ोतरी पर PM बोरिस जॉनसन ने किया लॉकडाउन का ऐलान

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के बढ़ते मामलों को देखते हुए एक बार फिर से ब्रिटेन में लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है.

बीते सोमवार को प्रधानमंत्री बोरिस जॉन्सन ने कहा कि इंग्लैंड के लगभग 56 मिलियन लोग पूर्ण लॉकडाउन में वापस लौटेंगे. यह लॉकडाउन संभवतः फरवरी के मध्य तक लागू रहेगा ताकि तेजी से फैल रहे कोरोना के नए स्ट्रेन को रोका जा सके.

आपको बता दें कि अपने संबोधन में पीएम बोरिस जॉन्सन ने कहा कि ये लॉकडाउन आने वाले बुधवार से लागू हो जाएंगे. इसके तहत बुधवार से सभी स्कूल भी बंद हो जाएंगे. उनकी तरफ से यह घोषणा स्कॉटलैंड की तरफ से हुई घोषणा के बाद सामने आयी है.

मालूम हो कि ब्रिटेन में कोरोनावायरस से सबसे अधिक मृत्यु दर के कारण आबादी की तीन-चौथाई लोग यानी कि 44 मिलियन, पहले से ही कठिन प्रतिबंधों की मार झेल रहे हैं.

पीएम जॉन्सन ने संबोधन में कहा कि सोमवार को कोविड से संक्रमित लगभग 27,000 लोग अस्पताल में थे जो पिछले साल अप्रैल में प्रकोप की पहली लहर के चरम से भी 40 प्रतिशत ज्यादा है.

वहीं, बीते मंगलवार को 80,000 से ज्यादा लोग सिर्फ 24 घंटे में संक्रमित पाए गए थे. आगे पीएम जॉन्सन कहते हैं कि देश के अधिकांश हिस्से पहले से ही प्रतिबंधों में हैं, यह स्पष्ट है कि हमें कोरोना वायरस के इस नए स्ट्रेन पर काबू पाने के लिए और ज्यादा मेहनत करने की आवश्यकता है.

इसके साथ ही पीएम जॉन्सन ने बताया कि यह लॉकडाउन भी पिछले लॉकडाउन की तरह ही होगा. जैसा मार्च के अंत से लेकर पिछले साल के जून तक लगाया गया था. लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि लोग ज़रूरी कामों के लिए घर से बाहर निकल सकेंगे. जैसे- ज़रूरी सामान, ऑफ़िस जाने के लिए, अगर वर्क फ़्रॉम होम नहीं कर पा रहे हैं तो, एक्सरसाइज़, मेडिकल सहायता और घरेलू हिंसा से बचने के लिए बाहर निकल सकेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 3 =

You may have missed