Breaking News: 18 वर्ष से अधिक आयु वाले लोग 1 मई से लगवा सकेंगे कोरोना वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बड़ी खबर मिली है. दरअसल एक 1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वाले लोग भी कोरोना वैक्सीन लगवा सकेंगे.
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से सोमवार को कोरोना स्थिति को लेकर की गई लगातार बैठकों के बाद केंद्र सरकार ने ये अहम निर्णय लिया है.
केंद्र की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया है, ‘कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तीसरे चरण के तहत सभी व्‍यस्‍कों का टीकाकरण किया जाएगा.’
सरकार ने कहा है कि विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण में टीकों की खरीद और टीका लगवाने की पात्रता में ढील दी जा रही है.
मालूम हो कि सोमवार को देश में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 2,73,810 नए दैनिक मामले दर्ज किए गए है. दैनिक मामलों में लगातर हो रही वृद्धि के कारण देश के ज्‍यादातर राज्‍यों में ऑक्सीजन तथा दवाइयों की कमी की शिकायतें लगातार सामने आ रही हैं.
बताते चलें कि कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत केंद्र सरकार की तरफ से सबसे पहले हेल्‍थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन वकर्स का टीकाकरण कराया गया था. इसके बाद 60 साल से भी अधिक आयु वाले लोगों के लिए टीकाकरण प्रक्रिया शुरू की गयी और फिर 45 साल से अधिक लोगों के लिए.
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है, ‘सरकार पिछले एक साल से अधिक समय से इस दिशा में भरसक प्रयास कर रही है कि भारत के अधिकतम लोगों को कम से कम समय में कोरोना वैक्‍सीन लगाई जाए.’ यही नहीं सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले लोगों, 45 साल से अधिक उम्र के लोगों सहित प्राथमिकता वाले समूहों को दूसरी खुराक देने में प्राथमिकता दी जाएगी.
केंद्र सरकार ने कहा है कि राज्यों को टीका निर्माताओं से अतिरिक्त खुराक सीधे खरीदने का अधिकार होगा. इसके साथ ही टीका निर्माताओं को उनकी 50 प्रतिशत तक आपूर्ति पूर्व घोषित दाम पर राज्य सरकारों और खुले बाजार में बेचने का अधिकार दिया गया है.
ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना मामले को लेकर सोमवार को एक के बाद एक कई बैठकें की थीं. इन बैठकों के माध्यम से उन्‍होंने यह संदेश दिया था कि कोरोना के नए मामलों में आए ‘जबर्दस्‍त उछाल’ को लेकर केंद्र सरकार ‘अलर्ट मोड’ पर है.
कोरोना की मौजूदा स्थिति पर चर्चा के लिए पीएम ने पहली बैठक सुबह 11.30 बजे की. इसके बाद में पीएम ने देश के शीर्ष डॉक्‍टरों के साथ कोविड-19 की की मौजूदा स्थिति पर संवाद किया. पीएम मोदी ने शाम छह बजे देश की शीर्ष दवा कंपनियों के साथ ऑनलाइन बैठक की थी.
प्रधानमंत्री ने प्रमुख डॉक्टरों के साथ बैठक में कोविड-19 के हालात से निपटने के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की थी और डॉक्‍टरों की परिवर्तनकारी भूमिका पर बल दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 5 =