कोरोना का ग्राफ दे रहा लॉकडाउन बढ़ने का संकेत,इन राज्यों ने लगाया प्रतिबंध

देशभर में कोरोना के संक्रमितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

लॉकडाउन में ढील के बाद से रोजाना करीब 15 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं और मृतकों की संख्या में भी वृद्धि हो रही है।

इसे देखते हुए एक बार फिर से देश में लॉकडाउन को लागू करने के संकेत मिलने लगे हैं, कई राज्यों ने या तो इस दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं या फिर इसपर विचार कर रहे हैं। ऐसे में फिलहाल उन राज्यों के बारे में जान लेते हैं जहां लॉकडाउन को लागू किया गया है।

असम में 12 घंटे का नाइट कर्फ्यू
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने गुवाहाटी समेत राज्य में 12 घंटे के नाइट कर्फ्यू के साथ 14 दिन का लॉकडाउन लगाने का ऐलान किया है। यह लॉकडाउन 28 जून से प्रभावी होगी। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, उनके पास इसके अलावा कोई और रास्ता नहीं है और इस बार लॉकडाउन में अधिक सख्ती होगी। तमिलनाडु में चार जिलों में संपूर्ण लॉकडाउन 
राज्य में संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए तमिलनाडु सरकार पहले ही चेन्नई समेत चार अति संवेदनशील जिलों में 30 जून तक संपूर्ण लॉकडाउन लगा रखा है।

झारखंड में 31 जुलाई तक लॉकडाउन
हेमंत सोरेन की झारखंड सरकार ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए शुक्रवार को 31 जुलाई तक लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘स्थिति की गंभीरता को देखते हुए, राज्य सरकार ने लॉकडाउन को 31 जुलाई तक बढ़ाने का फैसला किया है।’

पश्चिम बंगाल में संशोधित नाइट कर्फ्यू के साथ 31 जुलाई तक लॉकडाउन
टीएमसी की अगुवाई वाली पश्चिम बंगाल सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में 31 जुलाई तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है। इस लॉकडाउन के दौरान, रात के कर्फ्यू के समय को भी संशोधित किया गया है और यह अब रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा।

कर्नाटक में दिशानिर्देशों में कई बदलाव के साथ लॉकडाउन
भाजपा की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने कई सारे नए नियमों के साथ राज्य में हर रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। इसके साथ ही सरकार ने नाइट कर्फ्यू के समय में भी बदलाव किया है।

मणिपुर में बढ़ा लॉकडाउन
रविवार को मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने राज्य में एक से 15 जुलाई तक 15 दिन के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 + six =

You may have missed